छत्तीसगढ़ में रिकॉर्डिंग्स की लहरों पर तैरती राजनीति...

संपादकीय
12 फरवरी 2016

छत्तीसगढ़ की राजनीति अब स्टिंग ऑपरेशनों और टेलीफोन कॉल रिकॉर्डिंग्स पर सवार होकर तूफानों से गुजर रही है। चुनाव में उम्मीदवारों की खरीद-बिक्री से लेकर प्रदेश के सबसे चर्चित जग्गी हत्याकांड तक से जुड़ी हुई होने का दावा करने वाली बातचीत सामने आ रही है, और यह काम करने वाले कांग्रेस के दिग्गज नेताओं से जुड़े हुए एक स्टिंग-ऑपरेटर का कहना है कि ऐसी और बहुत सी रिकॉर्डिंग सामने आ सकती हैं। जानकारों का यह मानना है कि इस एक अकेले आदमी के पास ऐसी हजारों बातचीत रिकॉर्ड हो सकती है, और जैसा कि देश का कानून कहता है, अगर यह अदालत में सुबूत के दर्जे की तकनीक पर बनी होंगी, तो हो सकता है कि इनके आधार पर कुछ लोगों को सजा भी हो जाए। 
हम इन मामलों को लेकर अधिक अटकल लगाना नहीं चाहते लेकिन छत्तीसगढ़ के इन मामलों से सभी लोगों को यह सबक लेने की जरूरत है कि जिंदगी में जिन लोगों के साथ उठना-बैठना होता है, उनके साथ जिस तरह की बातचीत होती है, जैसे काम किए जाते हैं, उनका भुगतान जिंदगी में कभी करना पड़ सकता है। एक वक्त था जब एक फोटो खींचने के लिए कैमरा लगता था, फिल्म लगती थी, और डार्क रूम में जाकर उस फिल्म को धोना-सुखाना पड़ता था। आज बच्चे-बच्चे के हाथ में मोबाइल फोन है, जो बातचीत भी रिकॉर्ड कर लेते हैं, वीडियो भी रिकॉर्ड कर लेते हैं, और टेलीफोन कॉल भी। ऐसे डिजिटल-जमाने में सिवाय इसके और कोई चारा नहीं है कि लोग अपने चाल-चलन को ठीक रखें, अपने काम ठीक रखें, और अपनी संगत भी ठीक रखें। जमाने से बड़े बुजुर्ग यह नसीहत देते आ रहे हैं कि लोगों को अपनी संगत ठीक रखनी चाहिए, यह बात उस वक्त शायद इतनी अधिक लागू नहीं होती थी जितनी कि आज होती है। आज तो किसी बुरे के साथ कुछ देर के लिए उठना-बैठना भी जानलेवा हो सकता है। 
अभी हम यह कहना नहीं चाहते कि स्टिंग ऑपरेशन या इस तरह की कॉल रिकॉर्डिंग अनैतिक अधिक है, या कानून के काम की अधिक है। जो लोग ऐसा काम करते हैं, वे अगर किसी जुर्म को उजागर करने के लिए समाज के काम आ सकते हैं, तो नैतिकता का मुद्दा पीछे चले जाता है। छत्तीसगढ़ में आने वाला वक्त ऐसी और बहुत सी रिकॉर्डिंग्स का हो सकता है जो बहुत से लोगों की राजनीतिक और सार्वजनिक जिंदगी को बदलकर रख दे, या तहस-नहस करके रख दे। इससे सबक लेकर तमाम लोगों को अपने तौर-तरीके सुधार लेने चाहिए। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें